You are here
Home > राज्य और शहर > किसी बैंक में सीसीटीवी कैमरे अच्छे क्वालिटी के मिले तो किसी बैंक में सीसीटीवी कैमरे की क्वालिटी अच्छी नहीं

किसी बैंक में सीसीटीवी कैमरे अच्छे क्वालिटी के मिले तो किसी बैंक में सीसीटीवी कैमरे की क्वालिटी अच्छी नहीं

पिपलियामंडी में पुलिस ने की बैंकों की चैकिंग

टीआई अनिल सिंह ठाकुर के नेतृत्व में हुई कार्यवाही

मंदसौर । मंदसौर जिले के पिपलियामंडी थाना क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाली बैंकों की आज पुलिस अधीक्षक श्री ओ.पी.त्रिपाठी के आदेशानुसार अभियान चलाकर टीआई अनिल सिंह ठाकुर के नेतृत्व में चौकी प्रभारी रीना इक्का एवं पुलिस बल ने चैकिंग की ।
पुलिस ने नगर के स्टेट बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सेन्ट्रल बैक, स्मृति बैंक की शाखाओं में जाकर बाहर तथा अंदर की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। बैंकों के अंदर आने-जाने की सुविधाओं, बैंक में तैनात सुरक्षा गार्ड, बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे की क्वालिटी को चैक किया गया ।
टीआई अनिल सिंह ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि अक्सर यह देखने में आया है बैंकों में नगदी जमा करने एवं नगदी निकालने वाले ग्राहकों के साथ बैंक के अंदर ही लूट की घटना घटित हो जाती है और जब सीसीटीवी कैमरे देखे जाते है तो अधिकतर मामलों में महिलाएं एवं छोटे-बच्चे इन ग्राहकों के नगदी के बेगों में या थैलियों में कट लगाकर या फिर चालाकी से काउंटर से नगदी गायब कर नौ-दो ग्यारह हो जाते है । बैंकों की हुई चैकिंग के दौरान पुलिस ने बैंकों के अंदर जाकर ऐसी संदिग्ध महिलाओं एवं बच्चों पर निगरानी रखी । साथ ही बैंकों के बाहर अव्यवस्थित रूप से वाहन खड़े कर यातायात बाधित करने वालों को व्यवस्थित रूप से खड़ करवाया एवं जिन दो पहिया वाहनों में लॉक नहीं लगे थे एवं बिना नंबर के वाहन थे ऐसे वाहनों को थाने ले जाया गया तथा इन वाहन के मालिकों के कागजात देखे गए साथ ही चालानी कार्यवाही कर अपने वाहनों में लॉक लगाने तथा बिना नंबर के वाहनों पर नंबर डलवाने की समझाईश दी । चालानी कार्यवाही में 21 वाहनों के चालान बनाए जाकर 6 हजार रूपये वसूल किए गए ।
टीआई ठाकुर ने बैंकों की व्यवस्था एवं अव्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बैंकों की चैकिंग के दौरान सबसे अच्छी बैंक सेन्ट्रल बैंक पाई गई । सेन्ट्रल बैंक में सारी सुविधाएं व्यवस्थित मिली । सीसीटीवी कैमरे बेहतर क्वालिटी के थे, जो गार्ड यहां तैनात था वह रायफल के साथ था एवं सजगता से अपना ड्यूटी कर रहा था । साथ ही बैंक में आने-जाने की सुविधा भी अच्छी थी ।
टीआई ठाकुर ने बताया कि जिस बैंक में सबसे ज्यादा अव्यवस्था पाई गई वह बैंक था बैंक ऑफ इंडिया ।  सर्वप्रथम बैंक ऑफ इंडिया की शाखा का चयन गलत स्थान पर किया गया है, वैसे बैंक की शाखाएं आम रास्ते पर खुलती है लेकिन बैंक ऑफ इण्डिया की शाखा काफी अंदर तरफ खोली गई जिसके कारण यहां चोरी की वारदात आसानी से हो सकती है। साथ ही यहां पर गार्ड भी तैनात नहीं था एवं सीसीटीवी कैमरा भी अच्छी क्वालिटी का नहीं था, अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति या कोई घटना घटित कर दें तो उस संदिग्ध व्यक्ति का चेहरा भी सीसीटीवी कैमरे में स्पष्ट नहीं दिख सकता है । बैंक ऑफ इण्डिया के मैनेजर को सभी अव्यवस्थाओं को दुरूस्त करने एवं सीसीटीवी कैमरे अच्छे क्वालिटी के लगाने की समझाईश दी गई ।
बैंक चैकिंग अभियान एवं वाहन चैकिंग अभियान में टीआई अनिल सिंह ठाकुर,चौकी प्रभारी रीना इक्का, आरक्षक कमल सिंह, आरक्षक अजीत सिंह, आरक्षक देवेन्द्र, आरक्षक महेन्द्र और सुरेश, नगर सुरक्षा समिति सदस्य शैफु उर्फ कमांडो शामिल थे ।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top