You are here
Home > राज्य और शहर > कोरोना इफेक्टः मिट्टी के गणेशजी पूजे, बाल्टी में करें विसर्जित

कोरोना इफेक्टः मिट्टी के गणेशजी पूजे, बाल्टी में करें विसर्जित

मंदसौर, 18 August । कोविड-19 कोरोनावायरस की महामारी ने इस वर्ष के सभी त्यौहारों को फिका कर दिया है। वर्तमान में गणेशोत्सव नजदीक है तो उस पर कोरोना इफेक्ट अभी से नजर आने लगा है। आज पुलिस कंट्रोल रूम पर जिला कलेक्टर मनोज पुष्प एवं एसपी सिद्धार्थ चौधरी ने शांति समिति की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने मिट्टी के गणेशजी की मूर्तियां का उपयोग करने और उन्हें बाल्टी में विसर्जित करने की बात कही। वहीं इस वर्ष सामूहिक गणेश पाण्डालों पर भी रोक रहेगी। यह सब प्रतिबंध कोरोनावायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप को लेकर किए जा रहे है जो सही भी है।

शांति समिति की बैठक में निर्देश दिए गए कि जिले में आगामी गणेश चतुर्थी पर्व, गणपति उत्सव एवं विसर्जन, अनंत चतुर्दशी पर्व शांतिपूर्वक मनाया जाए। आने वाले सभी पर्व आपसी भाईचारे के साथ मनाए। बैठक के दौरान निर्देश दिए गए कि आने वाले त्योहारों पर साउंड सिस्टम का उपयोग ना करें। ना ही कोई साउंड सिस्टम को किराये पर दे। गणेशोत्सव पर जहां तक हो सकें कोशिश करें कि घर के अंदर रहकर गणेशजी की उपासना करें। घर से बाहर ना निकले।

कलेक्टर पुष्प ने कहा कि त्योहारों पर कोई भी अखाड़े का उपयोग ना करें, न हीं अखाड़ों का किसी प्रकार का प्रदर्शन करें। जिले में कोई भी कार्यक्रम सामूहिक रूप से एकत्रित होकर ना करें। ना ही कोई कार्यक्रम सामूहिक रूप से मनाये। किसी भी कार्यक्रम में 5 लोग से अधिक एकत्रित ना हो, त्योहारों को मनाते समय नियमों का पूरी तरह से पालन किया जाए। नियमों से हटकर कोई भी कार्यक्रम ना करें। शासन के दिशा निर्देशों का हुबहू पालन किया जाए।

वर्तमान परिस्थितियों के अनुसार सभी चले एवं निर्णय लेवे। सार्वजनिक स्थानों पर कुछ भी ना करें। नगर पालिका अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि साफ-सफाई एवं पानी की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। सभी व्यवस्था पूरी तरह से चाक-चौबंद हो। एमपीईबी को निर्देश देते हुए कहा कि विद्युत प्रदाय व्यवस्था बहुत ही बेहतर होनी चाहिए। उसमें किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो। पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जहां भी उचित लगे, वहां पर पुलिस पॉइंट की व्यवस्था की जाए।

बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी, अपर कलेक्टर बी.एल. कोचले, एडिशनल एसपी मनकामना प्रसाद, सीएसपी नरेन्द्र सौलंकी, पुलिस अधिकारी, जिला अधिकारी, समाज जनों के प्रतिनिधि व शांति समिति के सदस्य व पत्रकार उपस्थित थे।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top