You are here
Home > राज्य और शहर > मध्यप्रदेशः पत्रकार विष्णु मीणा के अपहरण का पर्दाफाशः 2 आरोपी गिरफ्तार, अपहरण में प्रयुक्त स्कार्पियों बरामद

मध्यप्रदेशः पत्रकार विष्णु मीणा के अपहरण का पर्दाफाशः 2 आरोपी गिरफ्तार, अपहरण में प्रयुक्त स्कार्पियों बरामद

नीमच। पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार राय के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुन्दर सिंह कनेश, नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ल के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी नीमच केंट निरीक्षक अजय सारवान एवं थाना प्रभारी नीमच सिटी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह ठाकुर के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा दिनांक 5/6.8.20 की दरम्यानी रात्रि मालवा दर्शन के सिटी रिपोर्टर विष्णु मीणा के अपहरण एवं लूट मामले का पर्दाफाश कर एक सफेद रंग की स्कार्पियों, फरियादी से लुटा गया मोबाईल सहित 02 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई है।

घटना का संक्षिप्त विवरण

दिनांक 5/6.08.2020 की रात्रि मालवा दर्शन के सिटी रिपोर्टर विष्णु मीणा द्वारा रिपोर्ट की गई कि मैं मोटर सायकल से विकास नगर ऑफिस से अपने घर के लिये जाने के दौरान टीचर कालोनी रिसाला मस्जिद के सामने आम रोड पर पीछे से किसी ने टक्कर मारी एवं नीचे गिरने के दौरान 3-4 लोगो द्वारा मारपीट कर मुझे सफेद रंग की स्कार्पियो मे डाल कर ले गये। नीमच सिटी थाने के सामने से गाडी मे बार बार मारते पिटते बोले बापु सिंह के लिये बहुत समाचार लिख रहा है, एक बोला करण तु इसको मार मार जान से खत्म कर दें। ग्रीन होटल के आगे मुझे हाईवे पर उतारकर डंडो से मारपीट की व वही मुझे छोडकर स्कार्पियो से भाग गये। उन लोगो द्वारा मेरा वीवो कम्पनी का मोबाईल जिसमे बीएसएनएस एवं आईडिया कंपनी की सिमें लगी है एवं पर्स जिसमें 1600 रूपये थे, छिनकर ले गये। स्कार्पियो के अंदर काले रंग के सीट कवर लगे होने एवं मारपीट करने वालो की उम्र 25 से 35 वर्ष के लगभग होने संबंधी जानकारी दी गई। उपरोक्त घटना पर से देहाती नालसी से थाना नीमच केंट पर अपराध क्र. 347/2020 धारा 365, 394 भादवि का कायम कर विवेचना में लिया गया।

विशेष टीम का गठन

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार राय द्वारा मालवा दर्शन के सिटी रिपोर्टर विष्णु मीणा के अपहरण एवं लूट के मामलें को गंभीरता से लेकर प्रकरण में अज्ञात आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु थाना प्रभारी नीमच केंट निरीक्षक अजय सारवान एवं थाना प्रभारी नीमच सिटी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह ठाकुर के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया जाकर अज्ञात आरोपियों की गिरफ्तारी पर रूपयें 10 हजार का ईनाम भी घोषित किया गया।

विवेचना के दौरान की गयी कार्यवाही

विवेचना के दौरान शहर में लगे सीसीटीवी केमरों के फुटेज को पुलिस कन्ट्रोल रूम पर चेक करते घटना स्थल एवं शहर के चौराहों पर सफेद रंग की स्कार्पियों जिसमें बम्पर लगे थें के घटना के पूर्व एवं घटना समय के दौरान मुव्हमेंट का पता चलने पर उक्त सफेद रंग की स्कार्पियों के संबंध में जानकारी प्राप्त करने हेतु मुखबिर मामूर किये गयें। उक्त संबंध में सूचना प्राप्त हुई कि विष्णु मीणा द्वारा न्यूज ग्रुप पर कुछ दिन पूर्व बंटी के संबंध में एक खबर डाली गई थी और उक्त सफेद रंग की स्कार्पियों जिसमें बम्पर लगे है, विकास आंजना उर्फ बंटी निवासी केसुन्दा के पास है। सूचना पर से पुलिस टीम द्वारा विकास आंजना उर्फ बंटी के केसुन्दा स्थित निवास पर दबिश देते विकास आंजना वहा से फरार हो गया, जिसे घेराबंदी कर केसुन्दा कलाली के पास से पकड़ा गया। पुलिस टीम द्वारा विकास से पुछताछ करते बताया गया कि घटना के 03 दिन पहले विष्णु मीणा केसुन्दा आया तथा बोला कि में तेरे खिलाफ न्यूज ग्रुप में लिखुंगा और दिनांक 05.08.2020 को विष्णु मीणा द्वारा न्यूज ग्रुप में मेरे विरूद्व लिखा गया जिसे मेरे ससुर द्वारा देखा गया तथा मेरी शादी टूटने की नौबत आ गई थी। इस कारण क्रोधित होकर मेरे द्वारा अपने साथियो के साथ दिनांक 5/6.8.20 की दरम्यानी रात्रि विष्णु का पिछा कर उसके साथ मारपीट की गई एवं मारपीट उपरांत उसे हाईवे पर स्थित होटल ग्रीन के पास छोड़ गयें। प्रकरण में मुख्य आरोपी विकास उर्फ बंटी आंजना सहित 01 अन्य आरोपी मनीष निवासी उदयपुर को गिरफ्तार किया गया। प्रकरण में फरार शेष 02 आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।

जप्त सामग्री

सफेद रंग की स्कार्पियों बिना नम्बर एवं फरियादी से लुटा गया मोबाईल

आरोपी की आपराधिक गतिविधियॉ

आरोपी विकास उर्फ बंटी आंजना पूर्व में हत्या के प्रयास के मामले में जमानत पर होकर चोरी छिपे डोडाचुरा की तस्करी कर रहा था।

गिरफ्तार आरोपी

  1. विकास उर्फ बंटी आंजना पिता बापुलाल आंजना उम्र 26 वर्ष निवासी केसुन्दा छोटी सादड़ी
  2. मनीष पिता कैलाश चन्द्र उम्र 26 वर्ष निवासी उदयपुर

पुलिस टीम

थाना प्रभारी नीम केंट निरीक्षक अजय सारवान, थाना प्रभारी नीमच सिटी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह ठाकुर, उनि गजेन्द्र सिंह, सउनि कैलाश सौलंकी, सउनि बापु सिंह चौहान, प्रआर. नीरज प्रधान, प्रआर. भैरूसिंह, आर. लक्की शुक्ला, आर. अजित सिंह एवं सायबर सेल टीम आर. प्रदीप शिन्दे, आर. प्रशांत जयंत, आर. लखन प्रताप सिंह का सराहनीय योगदान रहा।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top