You are here
Home > देश > गहलोत राज में सचिन पायलट को स्थान नहीं, डिप्टी-सीएम, प्रदेशाध्यक्ष का पद छीना

गहलोत राज में सचिन पायलट को स्थान नहीं, डिप्टी-सीएम, प्रदेशाध्यक्ष का पद छीना

जयपुर। राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी तनाव के बीच पायलट को उपमुख्यमंत्री पद और प्रदेशाध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह गोविंद सिंह डोटसारा को नया प्रदेशाध्यक्ष घोषित किया गया है। इसके अलावा पायलट समर्थक मंत्रियों को भी हटाया गया है। सचिन पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है। इससे पहले पार्टी उपमुख्यमंत्री को मनाने की कोशिश कर रही थी। मंगलवार को हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक (सीएलपी) में 102 विधायक शामिल हुए। बैठक में सभी ने सर्वसम्मति से पायलट को पार्टी से निकालने पर अपनी सहमति जताई थी।

पायलट को मंत्रिमंडल से किया बाहर, मंत्रियों पर भी कार्रवाई

राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट के बीच कांग्रेस पार्टी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सचिन पायलट से उपमुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष का पद छीन लिया गया है। उनके स्थान पर गोविंद सिंह डोटसारा को प्रदेशाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पायलट के समर्थक दो मंत्रियो विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है।

भ्रमित होकर भाजपा के जाल में फंसे पायलट: सुरजेवाला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी ने एक षड्यंत्र के तहत राजस्थान की आठ करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी है। भाजपा ने कांग्रेस सरकार को अस्थिर कर गिराने की साजिश की। भाजपा धनबल और सत्ताबल से कांग्रेस पार्टी और निर्दलीय विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है। सचिन पायलट भ्रमित होकर भाजपा के जाल में फंस गए और कांग्रेस सरकार को गिराने में लग गए। पिछले 72 घंटे से कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट और अन्य नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की। कांग्रेस की तरफ से लगातार पायलट को मनाने की कोशिशें की गईं लेकिन उन्होंने हर बात को नकारा।’

पायलट को पार्टी से निकालने पर सहमत हुए विधायक: सूत्र

जयपुर के फेयरमोंट होटल में चल रही कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में उपस्थित 102 विधायकों ने सर्वसम्मति से मांग की कि सचिन पायलट को पार्टी से निकाल दिया जाना चाहिए। यह जानकारी सूत्रों के हवाले से दी गई है।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top